Reviewz Buzz

जानिए किन कारणों से दिल्ली के पेट्रोल पंप एसोसिएशन ने हड़ताल करने का फैसला लिया।

petrols pups

आसमान छूते तेल के दामों से दिल्ली सहित देश की बाकी जनता की मुश्किलें पहले से बढ़ी हैं। तो वहीं, सीएम अरविंद केजरीवाल के फैसले के खिलाफ अब पेट्रोल पंप एसोसिएशन ने हड़ताल बुलाकर दिल्ली के लोगों की परेशानी और भी बढ़ाने का काम किया है। एसोसिएशन इस बात से नाराज है कि केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोलियम उत्पादों पर वैट कम करने के बावजूद दिल्ली सरकार ने इसमें कटौती नहीं की।

दिल्ली सरकार के फैसले के विरोध में हड़ताल

वैट कम न करने के दिल्ली सरकार के फैसले के विरोध में हड़ताल
केजरीवाल सरकार के पेट्रोल और डीजल के वैट में कटौती न करने के फैसले के खिलाफ दिल्ली के पेट्रोल पंप एसोसिएशन ने 22 अक्टूबर को हड़ताल का आह्वान किया है। इस दिन दिल्ली के करीब 400 पेट्रोल पंपों पर सुबह 6 बजे से 23 अक्टूबर सुबह 6 बजे तक पेट्रोल, डीजल और सीएनजी की बिक्री बंद रहेगी।

दिल्ली सरकार ने केंद्र के फैसले को बताया था धोखा

दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोलियम उत्पादों पर 2.5 रु की कटौती को जनता के साथ किया गया धोखा बताया था। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी केंद्र सरकार की मंशा पर सवाल उठाए थे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया था कि एक्साइज ड्यूटी प्रति लीटर 10 रु बढ़ाने के बाद इसमें 2.5 रु की कटौती जनता के साथ धोखा है।

केंद्र सरकार ने 2.5 रु की कटौती की थी

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेट्रोल-डीजल पर 2.5 रुपये की राहत की घोषणा की थी। केंद्र सरकार के इस ऐलान के बाद एनडीए शासित अधिकतर राज्यों ने भी पेट्रोल-डीजल के दामों में 2.50 रू की कटौती की थी जिसके फलस्वरूप इन राज्यों में तेल की कीमतों में 5 रुपये प्रति लीटर की कमी आई थी।

Facebook Comments
Exit mobile version